• Call Us9472870642
  • Login

AZADI KA AMRIT MAHOTSAVA

Scottish Central School - 15 August 2021

 

On the occasion of the 75th anniversary of Independence Day, the Amrit Festival of Independence was celebrated in the premises of Scottish Central School. On this day, the Constituent Assembly started the celebration of India's independence in which the transfer of rights was done. Sunil Kumar Singh, Director of the school said, “Today we are ending an era of misfortune and India is finding itself again. The achievement we celebrate today is only one step towards the opening of new opportunities. Even greater victories and achievements await us. To serve India means to serve lakhs and crores of victims. Eradicating ignorance and inequality of opportunity."

On the other hand, Manager Engineer Kumar Vikas said that “It has been many decades since the country got independence and during this time, the country has established its presence all over the world on every front. India has made a lot of progress on all fronts including science, technology, economic, agriculture, education, literature, sports. India, a nuclear-capable country, has achieved many achievements in the field of space. The success of Chandrayaan-2 is a big proof of this. The world is looking towards India, recently India did its best in the Olympics. India's Neeraj Chopra won the gold medal in javelin throw, weightlifter Mirabai Chanu and wrestler Ravi Kumar Dahiya won the silver medal. 

Acharya Satyanand Shastri, the teacher of the school, while remembering the brave freedom fighters, said that

Let's remember that scene again,

Remember the flame that was in the hearts of the martyrs.

In which freedom had reached by flowing on the shore,

Remember that stream of blood of sacrifices.

After years of slavery, this is the time when we will fulfill our resolve and put an end to our misfortune. India is a country where crores of people of different religion, tradition and culture live together and celebrate this festival of Independence Day with full joy. On this day as Indians we should be proud and promise that we will always be full of patriotism and honest to defend our motherland from any kind of aggression or insult.


 

Date: 15 August 2021

स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर स्कॉटिश सेंट्रल स्कूल के परिसर में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया गया। आज ही के दिन संघटक सभा ने भारत की स्वतंत्रता का समारोह आरंभ किया जिसमें अधिकारों का हस्तांतरण किया गया। विद्यालय के निदेशक सुनील कुमार सिंह ने कहा कि “आज हम दुर्भाग्य के एक युग को समाप्त कर रहे हैं और भारत पुनः स्वयं को खोज पा रहा है। आज हम जिस उपलब्धि का उत्सव मना रहे हैं वह केवल एक कदम है, नए अवसरों के खुलने का। इससे भी बड़ी विजय और उपलब्धियां हमारी प्रतीक्षा कर रही हैं। भारत की सेवा का अर्थ है लाखों-करोड़ों पीड़ितों की सेवा करना। अज्ञानता और अवसर की असमानता को मिटाना।” 

 वहीं दूसरी ओर प्रबंधक इंजीनियर कुमार विकास ने कहा कि “देश को आजाद हुए कई दशक हो चुके हैं और इस दौरान देश के हर मोर्चे पर दुनिया भर में अपना धाक जमा चुका है। साइंस, टेक्नोलॉजी, आर्थिक, कृषि, शिक्षा, साहित्य, खेल समेत तमाम मोर्चों पर भारत बहुत तरक्की कर चुका है। परमाणु क्षमता संपन्न देश भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हासिल कर चुका है। चंद्रयान-2 की सफलता इसका बड़ा प्रमाण है। दुनिया भारत की ओर देख रही है हाल ही में भारत ने ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। भारत के नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीता, वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और रेसलर रवि कुमार दहिया ने सिल्वर मेडल दिलाया।” 

विद्यालय के शिक्षक आचार्य सत्यानन्द शास्त्री ने वीर स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हुए कहा कि

चलो फिर से वह नजारा याद कर लें!

शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला याद कर लें!!

जिसमें पहुंची थी किनारे बहकर आजादी!

बलिदानों के खून की वह धारा याद कर लें

       वर्षो की गुलामी के बाद यह वो समय है जब हम अपना संकल्प निभाएंगे और अपने दुर्भाग्य का अंत करेंगे। भारत एक ऐसा देश है जहां करोड़ों लोग विभिन्न धर्म, परंपरा और संस्कृति के एक साथ रहते हैं और स्वतंत्रता दिवस के इस उत्सव को पूरी खुशी के साथ मनाते हैं। इस दिन भारतीय होने के नाते हमें गर्व करना चाहिए और वादा करना चाहिए कि हम किसी भी प्रकार के आक्रमण या अपमान से अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए सदा देशभक्ति से पूर्ण और ईमानदार रहेंगे।